अशांत मन ,घबराहट, बेचैनी कहीं आप भी तो एंग्जायटी के शिकार नहीं ? जानें एंग्जायटी के लक्षण और उपाय

एंग्जायटी, जिसे चिंता विकार भी कहा जाता है, आजकल बहुत आम हो गया है। यह तनाव, घबराहट और डर से जुड़ा एक मानसिक स्वास्थ्य विकार है। हल्के से गंभीर रूप तक हो सकता है, और हमारे काम, रिश्तों और खुशी में बाधा उत्पन्न कर सकता है। जब एंग्जायटी का अचानक दौरा पड़ता है, तो घबराहट, बेचैनी और नियंत्रण खोने का डर हमें जकड़ लेता है। ऐसे वक्त में तुरंत राहत पाने के कुछ आसान उपाय कारगर साबित हो सकते हैं।

1. सांसों पर ध्यान दें:

  • जब घबराहट बढ़े, धीमी और गहरी सांस लेने पर ध्यान दें।
  • 4 सेकंड नाक से सांस लें, 7 सेकंड रोकें, और 8 सेकंड मुंह से धीरे-धीरे छोड़ें।
  • इसे कुछ देर तक दोहराएं।

2. इंद्रियों को शांत करें:

  • अपने आसपास की चीजों पर ध्यान दें।
  • 5 चीजें देखें, 4 छुएं, 3 सुनें, 2 सूंघें और 1 चखें।
  • यह आपके दिमाग को भटका कर वर्तमान पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करेगा।

3. मांसपेशियों को शांत करें:

  • धीरे-धीरे अलग-अलग मांसपेशी समूहों को कसें और ढीला छोड़ें।
  • पैरों से शुरू करके सिर तक पूरे शरीर में इस प्रक्रिया को दोहराएं।

4. सकारात्मक सोचें:

  • “मैं शांत हूं,” “यह सिर्फ एंग्जायटी है, यह गुजर जाएगा,” या “मैं इस स्थिति को संभाल सकता हूं” जैसे वाक्यांश बार-बार दोहराएं।

5. शांत जगह की कल्पना करें:

  • अपनी आंखें बंद करें और खुद को शांत जगह पर कल्पना करें।
  • यह कोई सुंदर दृश्य या आपका बचपन का पसंदीदा स्थान हो सकता है।
  • सभी इंद्रियों को शामिल करें और कल्पना करें कि आप कैसा महसूस कर रहे हैं।

6. ठंडे पानी का तड़का:

  • ठंडे पानी का स्पर्श तंत्रिका तंत्र को झटका देता है और दिमाग को वर्तमान पर लाने में मदद करता है।
  • चेहरे पर ठंडा पानी छिड़कें या हाथों को ठंडे पानी में डुबोएं।

7. सुखदायक संगीत सुनें:

  • धीमी गति और शांत धुनों वाला संगीत तनाव कम करने और मन को शांत करने में मदद करता है।
  • प्रकृति की आवाज़ें या शास्त्रीय संगीत भी कारगर हो सकते हैं।

8. एरोमा थेरेपी:

  • लैवेंडर, कैमोमाइल या बरगामोट जैसे आवश्यक तेलों की सुगंध तनाव कम करने और शांत करने के लिए जानी जाती है।
  • इन तेलों को त्वचा पर लगाएं या सुगंधित दीपक में जलाएं।

9. व्यायाम:

  • नियमित व्यायाम एंडोर्फिन नामक हार्मोन छोड़ता है जो मूड को बेहतर बनाता है।
  • तेज चलना, दौड़ना, तैरना या योग करना कुछ अच्छे विकल्प हैं।

दीर्घकालिक प्रबंधन:

  • पेशेवर मदद लें: यदि एंग्जायटी गंभीर है और रोजमर्रा की जिंदगी में बाधा डाल रही है, तो मनोवैज्ञानिक या मनोचिकित्सक से सलाह लें।
  • CBT (Cognitive Behavioral Therapy): यह थेरेपी आपको नकारात्मक सोच patterns को पहचानने और बदलने में मदद करती है।

आपातकालीन संसाधन:

यदि आपको लगता है कि आप किसी तत्काल संकट का सामना कर रहे हैं, तो तुरंत मदद लें। आपातकालीन सेवाओं को 112 पर कॉल करें या अपने क्षेत्र में किसी मानसिक स्वास्थ्य संकट हॉटलाइन से संपर्क करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *